Moringa Khane Ke FaydeMoringa Khane Ke Fayde

Moringa Khane Ke Fayde: मोरिंगा (Moringa) यानी सहजन यह एक जादुई और चमत्कारी पेड़ है क्योकि इसकी पत्तियों और फलियों का सेवन स्वस्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है। सहजन (Moringa) की फलियों को ड्रमस्टिक कहा जाता है। यह भारतीय उपमहाद्वीप में पाया जाता है। घरेलु उपचार के लिए इसका बहुत अधिक प्रयोग होता है। पर डॉक्टर के नजरिये से देखे तो वैज्ञानिक तौर पर इसके पाँच मुख्य लाभ है। इस लेख में हम Moringa Khane Ke Fayde के बारे में देखेगे।

मोरिंगा का पोषण मूल्य (Nutrition Value of Moringa)

मोरिंगा पोषक तत्वों से भरपूर है, इससे पाए जाने वाले पोषण के कारण ही इसे मैजिकल ट्री बोला जाता है। इसकी पत्ती, फूल, टहनी, फली, बीज, छाल हर चीज़ पोषक तत्वों से भरपूर है। अगर हम इसे उदाहरण से समझें तो इसकी पत्तियों को सुखा के उसका पाउडर बनाये तो समान मात्रा में मिलने वाला पोषण को समझे तो इसमें केले से 7 गुना ज्यादा पोटैशियम होता है, दूध से दुगना प्रोटीन होता है, दूध से 17 गुना ज्यादा कैल्शियम, पालक से 25 गुना ज्यादा आयरन, और अच्छी मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है। इसके अलावा इसमें विटामिन ए, विटामिन बी 2, विटामिन बी 3, विटामिन बी 6 आदि अच्छी मात्रा में मौजूद है।

Per Serving (10 gram) Per 100 gram
Energy 30.6 kcal 306 kcal
Fat 0.6 gram 6 gram
Carbohydrate 2.6 gram 26 gram
Fibre 2.4 gram 24 gram
Protein 2.5 gram 25 gram
% RDA % RDA
Vitamin A 151μg 18.9% 1510 μg 189%
Vitamin E 8.1 mg 67.4% 81 mg 674%
Vitamin K 119 μg 158.7 % 1190 μg 1587 %
Vitamin C 2.3 mg 2.9 % 23 mg 29 %
Thiamin (B1) 0.08 mg 7.3 % 0.8 mg 73 %
Riboflavin (B2) 0.1 mg 7.9 % 1.1 mg 79 %
Vitamin B6 0.1 mg 7.2 % 1 mg 72 %
Vitamin B12 0.2 μg 8.1 % 2 μg 81 %
Potassium 145 mg 7.3 % 1450 mg 73 %
Calcium 198 mg 24.7 % 1980 mg 247 %
Magnesium 49.5 mg 13.2 % 495 mg 132 %
Iron 4.5 mg 32.2 % 45 mg 322 %
Zinc 0.25 mg 2.5 % 2.5 mg 25 %

Moringa Khane Ke Fayde

Recommended Dietary Allowances

पौष्टिक होने के साथ-साथ मोरिंगा के बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ देखे गए है।

  1. मोरिंगा (Moringa) के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है (Consumption of Moringa Boosts Immunity )
    मोरिंगा (Moringa) में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्वों के साथ एंटी-ऑक्सीडेंट (Anti-Oxidant) भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते है, इसमें बहुत अच्छे एंटी ऑक्सीडेंट्स पाए जाते है, जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते है।
  2. मोरिंगा (Moringa) का सेवन उच्च रक्त-चाप को नियंत्रित करता है (Consumption of Moringa Controls High Blood Pressure)
    इसमें क्वेरसेटिन (Quercetin) नामक एंटीऑक्सीडेंट (Anti-Oxidant) पाया जाता है, जो उच्च रक्त चाप (High Blood Pressure) की समस्या को नियंत्रित करता है, इसमें क्वेरसेटिन (Quercetin) नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो उच्च रक्त चाप की समस्या को नियंत्रित करता है, और हृदय सम्बन्धी बीमारियों के खतरे को कम करता है।
  3. मोरिंगा का सेवन कोलेस्ट्रॉल के बढ़े हुए स्तर को नियंत्रित करता है (Consumption of Moringa Controls Increased Cholesterol levels)
    एल.डी.एल (LDL: low density lipoprotein) कोलेस्ट्रॉल, वी.एल.डी.एल (VLDL : Very low density lipoprotein) कोलेस्ट्रॉल, ट्राईग्लिसराइड (Tryglycerides) के स्तर बढे हुए है तो उनको नियंत्रित करने के लिए यदि आप मोरिंगा ऑयल का इस्तेमाल करते है, तो आपको बहुत अच्छे परिणाम मिलेंगे इसके पीछे मुख्य कारण है, इसके ऑयल में ऐसे स्टेरॉल पाए जाते है जो हमारे शरीर में एंटी ऑक्सीडेंट्स के साथ मिलकर इस तरह का उत्पादन करते है जो शरीर में मौजूद एल.डी.एल कोलेस्ट्रॉल, वी.एल.डी.एल कोलेस्ट्रॉल, ट्राईग्लिसराइड को कम करने का काम करते है, और शरीर में एच.डी.एल (HDL: High Density Lipoprotein) यानी गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाते है।
  4. मोरिंगा का सेवन ब्लड शुगर को नियंत्रित रखने में बहुत लाभदायक है (Consumption of Moringa is Very Beneficial in Controlling Blood Sugar)
    जिनकी शुगर अनियंत्रित रहती है और जो डायबिटीज से पीड़ित है, और वह पहले से कोई एलोपैथिक, आयुर्वेदिक, या होम्योपैथिक दवाएं ले रहे है लेकिन खाने के बाद भी उनके शुगर लेवल नियंत्रित नहीं हो रहे है, तो ऐसे में यह लोग अगर खाने के साथ 4 से 5 ग्राम मोरिंगा के चूरण (मोरिंगा पाउडर) का सेवन करते है, तो इनका ब्लड शुगर का स्तर कम होता है, मतलब इसके सेवन से खून में शुगर की मात्रा नियंत्रित होती है। मोरिंगा में क्लोरोजेनिक एसिड नमक एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो हमारे शरीर में मौजूद ब्लड शुगर का अच्छे से ऑक्सीकरण करता है,और उसे अच्छी तरह से ऊर्जा में परिवर्तित करता है। रिसर्चो में पाया गया है जो लोग अपने खाने के साथ मोरिंगा का पाउडर या किसी अन्य रूप में मोरिंगा का सेवन कर रहे उनका ब्लड शुगर का स्तर 1.5 तक कम पाया गया है।
  5. मोरिंगा के सेवन से गठिया और सूजन सम्बन्धी समस्या में होने वाले स्वस्थ्य लाभ (Health Benefits of Consuming Moringa in Arthritis and Inflammatory Problems)
    यदि किसी व्यक्ति के शरीर में सूजन सम्बन्धी परेशानिया है, जैसे उसका ई.एस.आर (E.S.R) बढ़ा हुआ रहता है, उसका रह्युमेटोइड फैक्टर (Rheumetoid Factor) बढ़ा हुआ रहता है, उसको गठिया सम्बन्धी परेशानियाँ है, तो उसे मोरिंगा का सेवन करने से बहुत लाभ होता है। इसके पीछे जो कारण है वो बहुत सीधा है, क्योकि इसमें अच्छी न्यूट्रिशनल कंटेंट होने के साथ-साथ इसमें अच्छी मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट्स पाये जाते है। अगर इसका सेवन नियमित रूप से किया जाये तो गठिया या सूजन से पीड़ित व्यक्ति की सूजन की समस्या धीरे-धीरे करके कम होने लग जायेगी और दर्द में काफी आराम मिलता है।

यह भी पढिये – बाइपोलर डिसऑर्डर का आयुर्वेदिक इलाज (Ayurvedic Medicine For Bipolar Disorder)

मोरिंगा का सेवन कैसे करे ? (How to Consume Moringa ?)

  • मोरिंगा की फलियां जिसे हम ड्रमस्टिक (Drumstick) भी कहते है, इन्हे उबालकर इनके सब्जी पकाकर या इनकी फलियों को दाल या सांभर में भी डालकर सेवन किया जा सकता है। इसके उबाल वाले बचे हुए मांड (पानी ) को आटा लगाने में काम लिया जा सकता है, जिससे आटे की पौष्टिकता बढ़ती है।
  • राजस्थान समेत उत्तर भारत के राज्यों में इसकी फलियों का आचार भी शोक से खाया जाता है।
  • मोरिंगा (सहजन) के फूलों की सब्जी भी बनायीं जाती है, यह बहुत पौष्टिक होती है, और स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक होती है।
  • मोरिंगा (सहजन) के पेड़ से प्राप्त गोंद के लड्डू भी सर्दियों में खाये जाते है, जो स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक है।
  • मोरिंगा (सहजन) के पेड़ से प्राप्त गोंद के लड्डू भी सर्दियों में खाये जाते है, जो स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक होते है।

मोरिंगा (Moringa : सहजन) के पेड़ से प्राप्त होने वाले सभी पदार्थ जिसमे : फलियां (Drumstick), फूल, पत्तियां आदि का सेवन स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक है, इसके लाभों को देखते हुए इसके बहुत से प्रोडक्ट पाउडर (Powder), और गोलियों (Tablets) के रुप में भी बाजार में उपलब्ध है।

हाल ही में हमारे प्रधानमंत्री “श्री नरेंद्र मोदी ” ने भी शेयर किया था की वह मोरिंगा (Moringa) से बनी रेसिपीस (Receipes) अपने भोजन में जरूर शामिल करते है।

आशा करता हूँ यह लेख Moringa Khane Ke Fayde के बारे में आपकी जानकारी बढ़ाने में मददगार साबित होगा।

आपके उत्तम स्वस्थ्य और दीर्घायु की कामना करता हूँ।

लेखक : डॉ अनिल कुमार शर्मा BAMS (सेवानिवृत्त, अतिरिक्त निदेशक आयुर्वेदा विभाग राजस्थान सरकार )

 

By SAURABH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *