Kam Neend Lene Ke Side EffectsKam Neend Lene Ke Side Effects

Insomnia Side Effect: दोस्तों, कम नींद लेना यानी अनिद्रा (Insomnia) स्वास्थ्य समस्याओ में एक बड़ी समस्या है, जो हर उम्र के पुरुष और महिलाओं में हो सकती है। अनिद्रा (Insomnia) की समस्या लम्बे समय तक होने पर यह आपके जीवन को बुरी तरह से प्रभावित कर सकती है। इस लेख में हम Kam Neend Lene Ke Side Effects के बारे में पढ़ेंगे।

क्या आप जानते है आपकी 70% बीमारियों के लिए नींद का ना आना जिम्मेदार होता है। नींद का ना आना आपकी उम्र को तो कम करता ही है, साथ ही साथ यह आपके शरीर को काफी सारी गंभीर बीमारियां फ्री में दे जाता है। नींद ना आने या लम्बे समय तक ना सो पाने की समस्या, यह एक गंभीर समस्या है, गहरी नींद लेते समय हमारे शरीर की मरम्मत होती है और हमारी बॉडी का सिस्टम उसे डेटॉक्स भी करता है। तो यदि हमें अच्छी गुणवत्ता (Quality) की नींद नहीं आएगी तो हमारे शरीर का यह प्रोसेस गड़बड़ा जायेगा और हमारा शरीर कई गंभीर रोगो का शिकार हो जायेगा।

Table of Contents

नींद की कमी से होने वाले साइड इफेक्ट्स (Kam Neend Lene Ke Side Effects)

1. डायबिटीज और दिल की बीमारियों का खतरा। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है की जो लोग अनिद्रा (Insomnia) सम्बन्धी विकारों से जूझ रहे है, उनको डायबिटीज और दिल (Heart) संबंधी बीमारियों का खतरा बहुत अधिक बढ़ जाता है।

2. नींद की कमी से बढ़ जाता है, हाइपरटेंशन और हाई ब्लड प्रेशर। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है की यदि समय रहते अनिद्रा का इलाज नहीं किया जाए तो व्यक्ति में ह्यपरटेंशन और हाई-ब्लड प्रेशर की समस्या होने की सम्भावना बढ़ जाती है, कोई हमारे शरीर के कई अंग सोते समय हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थो को साफ़ करने का काम काम करते है, जिससे हम नींद से उठने पर हल्का महसूस करे।

3. नींद की कमी से बढ़ जाता है हार्ट अटैक का खतरा। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है, यदि कोई व्यक्ति नींद के लिए तय समय से 1 घंटा कम सोता है, तो उसको हार्ट अटैक होने का खतरा 24 % तक बढ़ जाता है।

4. नींद की कमी से पाचन क्रिया हो जाती है गंभीर रूप से प्रभावित। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है की नींद की कमी हमारा पाचन तंत्र (Digestive System) गंभीर रूप से प्रभावित हो जाता है। नींद की कमी से हमारा मेटाबोलिज्म (Metabolism) बिगड़ जाता है खाना सही पचता नहीं है और शरीर में कब्ज, गैस जैसी समस्याएं हो जाती है। शोधकर्ताओं का कहना है की भरपूर नींद लेने से हमारा मेटाबोलिज्म (Metabolism) अच्छा रहता है, और एक स्वस्थ शरीर के लिए मेटाबोलिज्म (Metabolism) का अच्छा होना अति आवश्यक है।

5. नींद की कमी से हो सकती है मस्तिष्क और दिमाग से जुडी समस्याएँ। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

एक अच्छी नींद हमारे दिमाग को तरोताज़ा करने के लिए और शरीर के दूसरे अंगो को आराम देने के लिए बहुत जरुरी है। नींद दिमाग के लिए पोषण का काम करती है , और अगर आप पर्याप्त नींद नहीं लेते तो यह आपकी मानसिक क्षमता और स्मरण शक्ति के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकती है, और कई बार आपको एंग्जायटी (Anxiety) और अल्जाइमर (Alzheimers) से जुडी परेशानिया भी हो जाती है। तनाव और मानसिक समस्याओ के शिकार अक्सर वह लोग होते है जो पर्याप्त मात्रा में नींद नहीं लेते है।

6. नींद की कमी से हो जाती है रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है की प्रतिदिन 7 घंटे से कम नींद लेने वाले व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है, और उनमे सर्दी जुखाम होने का खतरा 3 गुना अधिक हो जाता है, इसके अलावा अगर आप लंबे समय तक ठीक से नींद ना ले तो शारीरिक दर्द, अकड़न, सिर का भारी होना, चिड़चिड़ापन और बैचेनी जैसी भी दिक्कते भी हो सकती है।

7. नींद की कमी से हो जाते है हॉर्मोन्स (Hormones) असंतुलित। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है की नींद की कमी से हॉर्मोन्स (Hormones) असंतुलित हो जाते है, पुरुषो में नींद की कमी से टेस्टोस्टेरोन (Testosterone) की कमी देखी गयी है।

8. नींद की कमी से हो जाती है स्किन (Skin) की समस्या। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है नींद पूरी ना होने से स्किन की समस्या भी शुरू हो जाती है, जिन लोगो को नींद की कमी की समस्या होती है उन्हें बुढ़ापा जल्दी आता है।

9. नींद की कमी से बिगड़ जाता है, हड्डियों का स्वास्थ्य। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है, की नींद की कमी से हड्डियों में मौजूद मिनरल्स का संतुलन भी बिगड़ जाता है, इसके चलते जोड़ों के दर्द की समस्या भी पैदा हो जाती है।

10. नींद की कमी से बढ़ जाता है, ब्रेस्ट कैंसर का खतरा। – Kam Neend Lene Ke Side Effects

शोध बताते है, नींद की कमी से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है, साथ ही शरीर में कोशिकाओं भी काफी नुकसान पहुँचता है।

नींद की कमी के लक्षण (Symptoms of Sleep Deprivation)

नींद की कमी के लक्षण जो आपको दिखते है और आप उनको इग्नोर कर देते है।

  1. थकान के साथ जागना।
  2. दिनभर सुस्ती का एहसास होना।
  3. चिड़चिड़ापन और मिज़ाज़ में बदलाव।
  4. आपकी खान पान की आदतों की वजह से नींद आपसे दूर भाग जाती है।

अनिद्रा के प्रमुख कारण क्या हैं? – What are the main causes of Insomnia?

  1. मानसिक तनाव।
  2. अधिक क्रोध का आना।
  3. चिंतन करना।
  4. अधिक उत्तेजना।
  5. कब्ज।
  6. धूम्रपान
  7. आवश्यकता से कम या ज्यादा खाना खाना।
  8. मसालेदार और गरिष्ठ भोजन का सेवन करना।

ऐसी चीज़े आपको नींद से दूर कर देती है।

नींद की कमी के लिए कौनसा हॉर्मोन जिम्मेदार होता है। (Which Hormone is Responsible for Lack of Sleep?)

नींद की कमी के लिए टेस्टेस्टेरोन (Testosterone) हॉर्मोन जिम्मेदार होता है। मोंट्रियल विश्वविध्यालय (Montreal University) के मनोविज्ञान विभाग के अनुसार एक शोध में पाया गया है, की टेस्टेस्टेरोन (Testosterone) की मात्रा 30 साल की उम्र होने के बाद आपके शरीर से हर साल 1% की दर से घटती है। शोध के अनुसार के अनुसार 50 वर्ष की आयु के बाद यह दर और भी तेज़ी से घटने लगती है, जो अनिद्रा को बढ़ावा देती है।

यह भी पढ़ें – Wellhealthorganic.com Simple Ways to Improve Digestive System in Hindi

दिन में उम्र के हिसाब से कितनी नींद जरुरी होती है। – How Much Sleep is Required During the day According to Age?

  1. 18 से 40 वर्ष तक के लोगो के लिए एक दिन में 8 घंटे सोना जरुरी होता है।
  2. 40 से 50 वर्ष की आयु के लोगो के लिए 6 से 8 घंटे की नींद लेना आवश्यक होता है।
  3. 50 वर्ष से अधिक उम्र होने पर नींद कम आने लगती है और आदमी किश्तों में अपनी नींद पूरी करने लगता है। अगर आपको नींद आने में कोई दिक्कत है तो आपको डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए।

नींद की समस्या से जूझ रहे लोगो के लिए कुछ घरेलु उपाय। – Some Home Remedies for People Struggling with Sleep Problems.

  • रात का भोजन हल्का ले और समय से ले मतलब सोने से काम से 2 से 3 घंटे पहले भोजन कर ले।
  • सोते समय दूध का सेवन करे, और हो सके तो केसर वाले दूध का सेवन करे।
  • फलो और दही छाछ का सेवन दिन में करना अति उत्तम है।
  • यदि शरीर में गर्मी रहती हो तो शरीर को ठंडक देने वाले खाद्य पदार्थ जैसे: छाछ, दही, लस्सी और फलों का सेवन करे।
  • सुबह सुबह ठंडी और शुद्ध हवा में किये जाने वाले प्राणायाम जैसे : कपालभाति, अनुलोम-विलोम, भ्रामरी आदि करना अत्यंत लाभदायक है।
  • यदि पैरों के निचले हिस्से में गर्मी महसूस होती है, जूते पहनने पर पैरो में गर्मी महसूस होती है, और अनिद्रा की शिकायत भी रहती है तो नींद नहीं आने पर सोते समय नल के पानी टब या बाल्टी में लेकर उसमे 5 से 10 मिनट पैर भिगोये ।

यह कुछ घरेलु उपाय (Home Remedies) है जो आपकी नींद की कमी की समस्या दूर करने में आपकी मदद कर सकते है।

आशा करता हूँ यह जानकारी आपके लिए लाभदायक रहेगी, और जो लोग नींद की समस्या से गुजर रहे है उनकी नींद की समस्या दूर करने में मददगार होगी।

मार्गदर्शक: डॉ महेश चंद्र शर्मा (आयुर्वेदिक चिकित्सक)

By KOUSHAL KHANDAL

I am a content writer with almost 10 years of experience. I have been associated with Dr. Anil Kumar Sharma & Dr. Surendra Kumar Sharma for the last 6 years. Due to the family legacy and interest in Ayurveda, I started writing content based on Ayurveda under the guidance and proofreading of both doctors.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *