H5N1 Bird Flu सीडीसी ने दी चेतावनी दुनिया में कोविड से भी ज्यादा खतरनाक वायरस फ़ैल सकता है। अभी पूरी खबर पढिये !H5N1 Bird Flu सीडीसी ने दी चेतावनी दुनिया में कोविड से भी ज्यादा खतरनाक वायरस फ़ैल सकता है। अभी पूरी खबर पढिये !

H5N1 Bird Flu: आप सुन रहे होंगे कि कोविड से भी ज्यादा भयानक महामारी दुनिया में फेल सकती है। वास्तव में बताया जा रहा है कि कोविड-19 महामारी से सौ गुना ज्यादा खतरनाक हो सकता है। यह बीमारी है बर्ड फ्लू या एवियन इन्फ्लूएंजा ए। इस बार विशेषज्ञ इसकी क्षमता से ज्यादा चिंतित हो रहे है। पहले एवियन फ्लू या बर्ड फ्लू बीमारी अधिकतर पक्षियों में ही होती थी, लेकिन इस बार इसके लक्षण इंसानो में भी देखा जा रहा है। यह बर्ड फ्लू का एक वैरियंट है। एवियन फ्लू पक्षियों को संक्रमित करने वाले एचपीएआई ए (H5N1 Bird Flu) वायरस के समान है।

क्यों चिंता में है दुनियाँ? – Why is the World Worried?

आपको पता होगा कि कोविड के समय मृत्यु दर काफी ज्यादा थी। इसे ऐसे समझ सकते है कि 100 लोग कोविड से बीमार हो रहे थे तो इसमे से अगर 20 लोगों की मृत्यु हो जाती है तो जो मृत्यु दर है वो 20 % होगा। लेकिन यह कोविड महामारी के शुरुआत में थी। बाद में वैक्सीन और कोविड के बचावों से कम हो गयी है। अब हम इसके साथ जीना सीख गए है। लेकिन जरा कल्पना कीजिए कि बर्ड फ्लू के मामले में अगर हमारा मृत्यु दर 50% हो जाएगा या 70% हो जाएगा तो कितना घातक हो सकता है। मतलब हर 100 में से 70 लोगों की जान जा सकती है। इसलिए दुनिया इस बीमारी को लेकर डरी हुई है।

नोट : विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक 1 जनवरी 2003 से 26 फरवरी 2024 तक H5N1 बर्ड फ्लू के 887 मामले दर्ज किए गए थे। जिसमे से 462 लोगों की मृत्यु हो गयी थी। मतलब यह हुआ कि H5N1 बर्ड फ्लू से पीड़ित 52% लोगों की मृत्यु हुई है।

एवियन इन्फ्लूएंजा क्या है ? – What is Avian Influenza?

सीडीसी (CDC) की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार “एवियन इन्फ्लूएंजा या बर्ड फ्लू, एवियन (पक्षी) इन्फ्लूएंजा (फ्लू) प्रकार ए वायरस के संक्रमण के कारण होने वाली बीमारी है। ये वायरस स्वाभाविक रूप से दुनिया भर में जंगली जलीय पक्षियों में फैलते हैं और घरेलू पोल्ट्री और अन्य पक्षी और पशु प्रजातियों को संक्रमित कर सकते हैं। बर्ड फ्लू के वायरस आम तौर पर इंसानों को संक्रमित नहीं करते हैं। हालाँकि, बर्ड फ़्लू वायरस से छिटपुट मानव संक्रमण हुआ है। ”

क्यों H5N1 Bird Flu चिंता का विषय है? – Why is H5N1 Bird Flu a Concern?

Why is H5N1 Bird Flu a Concern

अमेरिका के टेक्सास में एक व्यक्ति H5N1 Bird Flu से संक्रमित हुआ है। सीडीसी (CDC) वेबसाइट के अनुसार संक्रमित व्यक्ति संभवतः H5N1 Bird Flu वायरस से संक्रमित डेयरी गायों के साथ काम करता था। जिससे संक्रमित व्यक्ति में यह वायरस गया होगा। इसका पहला मामला 2022 में कोलोराडो में एक पोल्ट्री वर्कर में हुआ था। यह पहली बार है कि यह वायरस गायों में पाया गया है और यह गाय से इंसान में बर्ड फ्लू फैलने का पहला मामला होगा।
वैसे तो अभी तक इंसान से इंसान में यह वायरस फैलने का कोई मामला नहीं आया है। अगर यह इंसानो से इंसानो में फैला तो दुनिया के लिए एक खतरे की घंटी होगी।

इंसानो के लिए क्यों खतरनाक है इन्फ्लूएंजा वायरस (H5N1) – Why is Influenza Virus (H5N1) Dangerous for Humans?

देखो इन्फ्लूएंजा वायरस चार प्रकार के होते हैं इन्फ्लूएंजा A, B, C और D। इसमें से इन्फ्लूएंजा B, C और D इंसानो के लिए खतरनाक नहीं है लेकिन इन्फ्लूएंजा A (H5N1) और A (H7N9) इंसानो के लिए खतरनाक हो सकता है।
सीडीसी का कहना है की प्रकृति में अब तक इन्फ्लूएंजा 131 प्रकार के अलग-अलग इन्फ्लूएंजा वायरस पाए गए है इसमें से केवल दो ही इन्फ्लूएंजा इंसानो को संक्रमित कर सकते है। बाकि सभी वायरस पक्षियों को संक्रमित करते है। इसलिए इन्हे बर्ड फ्लू कहा जाता है।

H5N1 बर्ड फ्लू के क्या लक्षण है? – What are the Symptoms of H5N1 Bird Flu?

इंसानो में यह सीधे तौर में नहीं फैलता है बल्कि जानवरों या पक्षियों के संपर्क में आने या इनके उत्पाद (जैसे दूध, अंडा, मांस आदि) खाने से आते है। इससे संक्रमित व्यक्ति में तेज बुखार आता है। उल्दी-दस्त हो है। लगातार खांसी आती रहती है। सिरदर्द होता है। थकान आती है। घबराहट होती है। मांस-पेशियों में दर्द रहता है। गले में खस-खस रहती है। नाक बंद या लगातार बहता रहता है। साँस लेने में तकलीफ होती है। निमोनिया हो जाना।

क्या इसका इलाज है? – Is There Any Treatment for This?

वैसे तो इस वायरस का कोई इलाज नहीं है लेकिन अमेरिका के सीडीसी (CDC) ने इस वायरस के कुछ सैंपल लिए है और कुछ बड़े इंस्टीटूशन के पास सैंपल रखे है। अगर यह वायरस फैलता है तो इसके लिए वैक्सीन या दवाई तैयार की सके। अभी के लिए बस कुछ सावधानी बरतनी होती है जैसे फालतू जानवरो और पक्षियों से दूर रहे। बीमार जानवरो और पक्षियों से सीधे सम्पर्क में आने से बचे। हाइजीन का पूरा ध्यान रखे। वायरस फैलने पर जानवरो और पक्षियों से उत्पादित चीज़े खाने से बचे।

दोस्तों हमें कोशिश की है कि आपको H5N1 बर्ड फ्लू या एवियन इन्फ्लूएंजा की पूरी जानकारी मिले। जिससे आप जान पाए की यह वायरस इंसानो के लिए खतरा है। और क्यों दुनिया के लिए यह चिंता का विषय है।

डायबिटीज के मरीज़ो के लिए रामबाण है यह आयुर्वेदिक दवाई

By KOUSHAL KHANDAL

I am a content writer with almost 10 years of experience. I have been associated with Dr. Anil Kumar Sharma & Dr. Surendra Kumar Sharma for the last 6 years. Due to the family legacy and interest in Ayurveda, I started writing content based on Ayurveda under the guidance and proofreading of both doctors.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *