Benefits of Drinking Thandai

Thandai Peene Ke Fayde: हेलो दोस्तों आज हम बात करेंगे ठंडाई के बारे में क्योंकि गर्मियों का मौसम आ गया है, धुप भी तेज होती जा रही है और लू लगने का डर भी रहता है, तो आज हम आपको एक ऐसी रेसिपी के बारे में बताएंगे, जो शरीर को लू लगने से बचाती है, पानी की कमी को भी दूर करती है, दिमाग को ठंडक देती है और शरीर को डिहाईड्रेशन से बचाती है। हम बताएंगे ठंडाई के बारे में यह बहुत ही स्वादिस्ट, ताजगी और ऊर्जा देने वाला पेय है।

ठंडाई क्या है ? (What is Thandai?)

ठंडाई एक प्रसिद्ध भारतीय शरबत है जो की गर्मियों में पसंद किया जाता है। यह एक मिल्क बेस्ड शरबत है जिसको ठंडा दूध, खस बीज, बादाम, काजू, पिस्ता, सोंठ, मिश्री इत्यादि से मिलाकर बनाया जाता है।

इसको होली और महाशिवरात्रि जैसे धार्मिक और सामाजिक उत्सवों में प्रस्तुत किया जाता है। यह शरबत ठंडा, सुगंधित, और पोषक होता है और गर्मियों में ताजगी और राहत प्रदान करता है। ठंडक देने के अलावा, यह शरबत मस्तिष्क और शारीरिक संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है।

ठंडाई बनाने की विधि ( How To Make Thandai )

ठंडाई बनाने की विधि निम्नलिखित है:-

सामग्री:

  • ठंडा दूध – 3 कप
  • खस (वेटिवर) के बीज – 2 टेबल स्पून
  • बादाम – 10-12 (भिगोकर छीले हुए)
  • काजू – 10-12 (भिगोकर छीले हुए)
  • पिस्ता – 10-12 (छीले हुए)
  • सोंठ पाउडर – 1 टेबल स्पून
  • मिश्री पाउडर – 1 टेबल स्पून
  • इलायची पाउडर – 1/2 छोटा स्पून
  • काली मिर्च पाउडर – 1/2 छोटा स्पून
  • गुलाब पत्तियां – 3 टेबल स्पून
  • चीनी – स्वादानुसार

विधि :-

  • सबसे पहले हम सभी सामग्री लेंगे।
  • इसके बाद सभी सामग्री को पानी में 4 घंटो के लिए भिगोकर रखेंगे।
  • फिर हम मिक्सी का जार लेंगे।
  • सभी सामग्री हम मिक्सी के जार में डालेंगे। और पेस्ट तैयार करेंगे।
  • अब अलग से एक बड़ा पतीला लेंगे।
  • छलनी की सहायता से पीसी हुई सामग्री को छान लेंगे।
  • अब 3 कप दूध लेंगे और मिक्स करेंगे।
  • आप अपने स्वादानुसार चीनी भी मिला सकते है।
  • सजाने के लिए गुलाब की पत्तियों का इस्तेमाल करेंगे।
  • ठंडाई को ठंडा सर्व करें। आप उसे ठंडा सर्व करने के लिए बर्फ के टुकड़े डाल कर सर्व करे।
  • इस रेसिपी से आप घर पर स्वादिष्ट ठंडाई तैयार कर सकते है यह ठंडाई गर्मियों के मौसम में अद्भुत मानी जाती है।

ठंडाई पीने के है गजब के फायदे – (Benefits of drinking Thandai)

गर्मियों के मौसम में ठंडाई का मुख्य रूप से सेवन किया जाता है। हमारे शरीर के लिए भी लाभप्रद बताया गया है। हम आपको बताते है की ठंडाई से क्या फायदे है :-

  • ठंडाई में खस -खस का इस्तेमाल किया जाता है। जो आपकी कब्ज की समस्या को दूर करता है। ठंडाई में प्रोटीन, कैल्शियम, और फाइबर के साथ मिनरल्स भी होते है जो सेहत को अच्छा बनाने के लिए जरुरी होता है।
  • ठंडाई में सौंफ भी डाली जाती है। ठंडाई में सौंफ की मात्रा होने से शरीर को ठंडक मिलती है। इससे आपकी पाचन क्रिया बेहतर होती है।
  • ठंडाई में मिले बादाम, काजू एवं पिस्ता से भी शरीर को ताकत मिलती है और पीने वाला इससे चार्ज रहता है।
  • ठंडाई से शारीरिक ताजगी मिलना :- ठंडाई में प्राकृतिक गुण होते है जो शरीर को शीतल करने में मदद करते है। यह गर्मियों में शरीर को ठंडा और ताजा रखने में मदद करती है।
  • ठंडाई से शरीर को पोषण मिलना :- ठंडाई में मिल्क और ड्राई फ्रूट्स होते हैं जो शरीर को पोषण प्रदान करते हैं। इसमें प्रोटीन, विटामिन, और मिनरल्स होते हैं जो शरीर को ऊर्जा और पोषण प्रदान करते हैं।
  • आंतो का स्वस्थ रहना :- ठंडाई में खस, सोंठ, और अन्य फायदेमंद प्राकृतिक तत्व होते हैं जो पाचन को सुधारते हैं और आंतों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।
  • शारीरिक और मानसिक संतुलन बनाने रखने का कार्य :- ठंडाई गर्मियों में मनोबल को बढ़ाने में मदद करती है। यह ठंडाई स्वादिष्ट के साथ -साथ आरामदायक भरी होती है। जो शारीरिक और मानसिक संतुलन को बनाए रखती है।

ठंडाई के कुछ प्रसिद्ध और अच्छे ब्रांड (Some famous and good brands of Thandai)

आजकल एकल परिवार की संस्कृति है, इसलिए घर पर सब चीजे बनाना संभव नहीं है, घर पर ना बना पाए तो बाजार में बहुत से अच्छे ब्रांडो की ठंडाई उपलब्ध है, उन्हें लाकर भी उनका सेवन किया जा सकता है। ठंडाई के कुछ प्रसिद्ध और अच्छे ब्रांड निम्नलिखित है:-

  • गुरुजी ठंडाई
  • गोपालजी ठंडाई
  • पतंजलि ठंडाई
  • डायबिटीज (मधुमेह ) के मरीजों के लिए – श्री गुरुजी की शुगर फ्री केसरिया ठंडाई।

उपरोक्त सूची में कुछ प्रमुख ब्रांडों का उल्लेख है, जिन्हें आप ठंडाई की खरीदारी के लिए विचार कर सकते हैं।

ठंडाई में पाए जाने वाले पोषक तत्व (Nutrients found in Thandai) –

ठंडाई में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो की आपके शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। पोषक तत्व इस प्रकार से है –

1. प्रोटीन: ठंडाई में मिल्क से प्रोटीन का स्त्रोत मिलता है, जो मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।

2. विटामिन्स: बादाम, काजू, पिस्ता आदि में विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होते हैं।

3. फाइबर: खस (वेटिवर) में फाइबर होता है, जो पाचन को सुधारता है और अनियमित डाइजेशन को दूर करता है।

4. हड्डियों का स्वास्थ्य: मिल्क में प्रोटीन और कैल्शियम होता है जो हड्डियों के लिए लाभकारी होता है।

5. हृदय स्वास्थ्य: मिल्क में प्रोटीन और फायबर होते हैं जो हृदय स्वास्थ्य को बढ़ावा देते हैं।

6. हार्मोनल संतुलन: विटामिन्स और मिनरल्स की सहायता से, ठंडाई हार्मोनल संतुलन को बनाए रख सकती है।

7. ऊर्जा और ताजगी: ठंडाई का सेवन शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है और उसे ताजगी और ताकत प्रदान करता है।

ठंडाई के सेवन में रखने वाली सावधानियाँ (Precautions to be taken while consuming Thandai)

ठंडाई के सेवन में हमें निम्न प्रकार से सावधानी रखनी चाहिए :

1. ठंडाई को तैयार करते समय सभी सामग्री को साफ़ और स्वच्छ रखे।

2. अगर आप ठंडाई बाजार से खरीद रहे है, तो अच्छे ब्रांड की और सही जगह से लें।

3. अधिक मात्रा में ठंडाई का सेवन न करें, यह हेल्थ को बिगाड़ सकता है।

4. यदि किसी को कोई फूड अलर्जी है, तो उसे उसका सेवन न करें।

5. अगर आप किसी शारीरिक समस्या का सामना कर रहे हैं जैसे कि डायबिटीज, तो शुगर का इस्तेमाल नहीं करे।

इन सावधानियों का पालन करके आप ठंडाई का सेवन कर सकते हैं और इसका आनंद उठा सकते हैं।

आशा करता हूँ यह जानकारी आपके लिए बहुत लाभप्रद रहेगी। अगर आपको लगता यह जानकारी आपके और आपके मिलने वालो के लिए लाभप्रद है तो आप इसे उनसे शेयर करें।

“मैं आपके अच्छे स्वास्थ और उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ।”

लेखक : डॉ. अनिल कुमार शर्मा (आयुर्वेदिक चिकित्सक)

By KOUSHAL KHANDAL

I am a content writer with almost 10 years of experience. I have been associated with Dr. Anil Kumar Sharma & Dr. Surendra Kumar Sharma for the last 6 years. Due to the family legacy and interest in Ayurveda, I started writing content based on Ayurveda under the guidance and proofreading of both doctors.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *