Back Pain in HindiBack Pain in Hindi

हैलो दोस्तों, बेकपेन (Back Pain) आजकल आम समस्या बन गयी है। आज हम आपको इस आर्टिकल में कमर का दर्द (Back Pain In Hindi) में सम्पूर्ण जानकारी देने की कोशिश कर रहे है। इस आर्टिकल में घर पर पीठ दर्द से आराम पाने के तरीके के बारे में पढ़ेंगे। हम आशा करते है यह जानकारी आपके लिए लाभदायक होगी। कमर का दर्द (Kamar Ka Dard) विशेष रूप कमर के निचले हिस्से में दर्द (Lower Back Pain) आजकल बड़े से छोटे व्यक्तियों में आम होने लग गया है एक सर्वे के अनुसार भारत में 2023 में 87.5 मिलियन लोग किसी ना किसी कारण से कमर दर्द से पीड़ित है।

भारत में आधे से ज्यादा अधिक उम्र (बुढ़ापा) वाले लोगो में कमर में दर्द होता ही है, जिसके बहुत कारण हो सकते है लेकिन मुख्य कारण जवानी में कमर के दर्द को इग्नोर करना, लम्बे समय तक एक पोजीशन में बैठे रहना, और हमारी ख़राब जीवन शैली आदि हो सकते है।

Back Pain क्या है? — What is Back Pain In Hindi?

Back Pain का हिंदी में मतलब होता है – “कमर का दर्द”। कमर का दर्द (Back Pain in Hindi) वृद्ध व्यक्तियों (60 साल के व्यक्ति) में ज्यादा हुआ करता था। लेकिन अब कमर दर्द युवाओं में भी आम बात हो गयी है। युवाओं में विशेषरूप से कमर के निचे दर्द (Lower Back Pain in Hindi) एक आम बात हो गयी है। 80% व्यक्तियों को Low Back Pain का सामना कभी ना कभी करना पड़ ही जाता है, जिसमे कुछ समय के लिए बहुत तेज दर्द होता है।

कमर दर्द क्यों होता है? – Why Does Back Pain Occur?

कमर में दर्द के बहुत सारे कारण हो सकते है। कमर दर्द कोई बीमारी नहीं होती है, लेकिन लगातार कमर दर्द के कारण आपको बहुत सारी बीमारी (जैसे ऑस्टियोपोरोसिस, रीढ़ की हड्डी का कैंसर, साइटिका, एंकिलोजिंग स्पोंडिलिटिस, ​हर्नियेटेड डिस्क आदि) होने का सकेंत भी बन सकता है। कमर में दर्द हमारी ख़राब जीवन शैली, ऑफिस में बैठे रहना, पोषण की कमी आदि से हो सकता है।

Back Pain (कमर दर्द) के सामान्य कारण – Common Causes of Back Pain

कमर दर्द के सामान्य कारण है जैसे

  • अचानक भारी वजन उठाना (मांसपेशियों या लिगामेंट्स में खिंचाव)।
  • किसी कारण कमर में चोट लग जाना।
  • ऑफिस में लगातार बिना हिले एक ही जगह बैठे रहना।
  • ख़राब तरीके से सोना और बैठना भी पीठ के दर्द का कारण हो सकता है।
  • महिलाओं में पीरियड और प्रेगनेंसी के दौरान पीठ में दर्द होना।
  • पीठ को झुकाकर चलना।
  • डिस्क का टूटना या खिसक जाना।
  • कैल्शियम की कमी
  • महिलाओं में हाई हील पहनने से कमर दर्द होता है।
  • स्ट्रेस कमर में दर्द का कारण भी बन सकता है।

Back Pain के लक्षण – Symptoms of Back Pain

  • सुबह उठने और बैठे में दर्द होना।
  • वजन का काफी बढ़ना।
  • पीठ में जलन होना।
  • पेशाब करने में समस्या आना।
  • नीचे की ओर झुक ना पाना
  • सोते समय पीठ में दर्द होना।
  • पैरों की ओर दर्द जाना और पैरों में सूजन, कमजोरी, दर्द होना।
  • कमर दर्द के कारण बुखार आना।
  • कमर में सूजन आना।
  • चलने में दिक्कत होना।
  • दो हफ्ते से ज्यादा कमर दर्द बने रहना।

Also Read – Ashwagandha Safed Musli Shatavari ke Fayde – शक्ति और सेहत का स्रोत

कमर दर्द का इलाज (Kamar Dard Ka Ilaj)

कमर दर्द में अगर आपके दो हफ्ते से ज्यादा दिनों तक दर्द हो रहा है तो आपको डॉक्टर की सलाह के अनुसार इलाज करना होगा। इसके अलावा अगर आपके कोई पहले से कोई बीमारी है, हड्ड़ी में पहले से कोई चोट लगी हुई है, अगर आपके किसी इलाज के लिए दवाई चल रही है, किसी प्रकार का ऑपरेशन हुआ है, किसी बीमारी से संक्रमित है जैसी चीज़ है तो सबसे पहले डॉक्टर की सलाह लेवें। यहाँ हम आपको सामान्य कमर में दर्द होने पर घरेलु इलाज के बारे में बता रहे है जो सामान्य योग, व्यायाम या कुछ उपाये करके सही किया जा सकता है।

अगर आपको कमर दर्द महसूस होता है तो –

  • गर्म पानी (ज्यादा गर्म भी नहीं) से कमर दर्द वाले हिस्से पर सक करना चाहिए।
  • सरसों या नारियल के तेल से मालिश करना चाहिये।
  • अपने खाने में कैल्शियम को भरपूर रूप से शामिल करना चाहिए।
  • अपने बैठने के तरीके को बदल देना चाहिए।
  • रोजाना योगा (YOGA) या व्यायाम (Exercise) करना चाहिए।
  • अधिक वजन उठाने से पहले सावधानी रखनी चाहिए और अपने घुटनों को मोड़ना चाहिए।
  • सोने के लिए अच्छे गद्दों का यूज़ करें।
  • सोते समय भी अपनी पोजिशनिंग का ध्यान रखना चाहिये।
  • महिलाओं को ध्यान देना होगा कि कमर में दर्द की स्थिति में हाई हिल का यूज़ ना करें।
  • महिलाओं को पीरियड और प्रेगनेंसी के दौरान कमर में दर्द होता है तो डॉक्टर की सलाह के अनुसार इलाज करना चाहिए।

घरेलु नुस्खे

  • खसखस के बीज और मिश्री को पीस कर, पाउडर बनाकर, दूध के साथ लेने पर लोअर बैकपेन में आराम मिलता है।
  • Back Pain में लहसुन का सेवन करना चाहिए और लहसुन की 4-5 कलियों को काला होने तक सेंक लेवे फिर उसे पीसकर पीठ पर लगाने पर आराम मिलता है।
  • कमर में दर्द के साथ सूजन आ रही है तो आप आइस-पैक का यूज़ लेकर इसमें आराम पा सकते है।
  • कमर दर्द में शहद और हल्दी को दूध में मिलकर पी सकते है।

ध्यान देवें – यह घरेलु नुस्खे सामान्य: या आमतौर पर कमर दर्द होने पर सही होता है लेकिन अधिक समस्या होने पर आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

By KOUSHAL KHANDAL

I am a content writer with almost 10 years of experience. I have been associated with Dr. Anil Kumar Sharma & Dr. Surendra Kumar Sharma for the last 6 years. Due to the family legacy and interest in Ayurveda, I started writing content based on Ayurveda under the guidance and proofreading of both doctors.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *