Amrud Khane Ke FaydeAmrud Khane Ke Fayde

Table of Contents

अमरूद खाने के फायदे: स्वास्थ्य के लिए वरदान

Amrud Khane Ke Fayde: स्वास्थ्य रक्षा में अद्भुत है अमरूद के फायदे (Amrud Ke Fayde), अमरूद एक बहुत ही गुणकारी फल है, यह प्राय: भारत देश में पाया जाता है| इसे अमृतफल भी कहा जाता है।

Introduction (परिचय)

आयुर्वेद के अनुसार पका हुआ अमरूद अमृत स्वाद में खट्टा-मीठा, कसेला, गुण में ठंडा, पचने में भारी, कफ, तथा वीर्यवर्धक, रुचिकारक, पित्तदोषनाशक एवं हृदय के लिए लाभदायक है। अमरूद पागलपन, भ्रम, मूर्छा, कृमि, तृषा, शोष, श्रम, विषम ज्वर (मलेरिया) तथा जलनाशक है। यह शक्तिदायक, सत्वगुणी, एवं बुद्धिवर्धक है| भोजन के घंटे भर बाद इसे खाने से कब्ज़, आफरा, आदि की शिकायत दूर होती है। सुबह खाली पेट अमरूद खाना भी लाभदायक है।

अमरुद के औषधि के रूप में विभिन्न प्रयोग (Various Uses of Guava as Medicine)

Various Uses of Guava as Medicine

1. सर्दी-जुकाम में अमरुद खाने के फायदे (Benefits of eating guava in cold and flu)

सर्दी-जुकाम होने पर एक अमरुद का गूदा बिना बीज के खाकर एक गिलास पानी पी ले| दिन में ऐसा 2-3 बार करें। पानी पीते समय नाक से सांस न ले और ना छोड़े। नाक बंद करके पानी पीएं और मुँह से ही सांस बाहर फेंके। इससे नाक बहने लगेगा। नाक बहना शुरू होते ही अमरूद खाना बंद कर दे। एक-दो दिन में जुकाम खूब झड़ जाएँ तब रात को सोते समय पचास ग्राम गुड़ खाकर बिना पानी पीएं सिर्फ कुल्ला करके सो जाएँ। जुकाम ठीक हो जायेगा।

2. खांसी में अमरुद खाने के फायदे (Khansi Me Amrud  Khane Ke Fayde)

एक पूरा अमरुद आगकी गरम राख में दबाकर सेंक ले। दो-तीन दिन तक प्रतिदिन इस प्रकार एक अमरुद रोज खाने से कफ ढ़ीला होकर निकल जाता है और खांसी में आराम हो जाता है। अमरुद के पत्ते पानी से धोकर साफ़ कर ले और फिर पानी में उबाले| जब उबलने लगे, तब उसमे दूध और शक्कर डाल दे, फिर उसे छान ले। इसको पीने से खांसी में आराम मिलता है। अमरूद के बीजों को सुखाकर पीस ले और थोड़ी मात्रा में शहद के साथ सुबह-शाम चाटें। इससे खांसी ठीक हो जाएगी। इस दौरान तेल एवं खटाई का सेवन ना करें।

3. सूखी-खांसी में अमरुद खाने के फायदे (Sukhi-khansi Me Amrud  Khane Ke Fayde)

इसमें पके हुए अमरुद को खूब चबा-चबा कर खाने से लाभ होता है।

4. कब्ज़ में अमरुद खाने के फायदे (Kabj Me Amrud  Khane Ke Fayde)

पर्याप्त मात्रा में अमरुद खाने से मल सूखा और कठोर नही हो पाता और सरलतापूर्वक शौच हो जाने से कब्ज़ नही रहता। अमरुद काटने के बाद उसपर सोंठ, काली मिर्च और सेंधा नमक भुरभुरा ले। फिर इसे खाने से स्वाद बढ़ता है और पेट का अफरा, गैस तथा अपच दूर होता है। इसे सुबह निराहार (खाली पेट) खाना चाहिए या भोजन के साथ खाना चाहिए।

5. मुख के रोग में अमरुद खाने के फायदे (Mukh Ke Rog Me Amrud  Khane Ke Fayde)

इसके कोमल हरे ताजे पत्ते चबाने से मुंह के छाले नरम पड़ते है। मसूड़े तथा दांत मज़बूत होते है, मुँह की दुर्गन्ध का नाश होता है। पत्ते चबाने के बाद इसका रस थोड़ी देर मुंह में रखकर इधर-उधर घुमाते रहें, फिर थूक दे। पत्तों को उबालकर इसके पानी से कुल्ला और गरारे करने पर दांत का दर्द दूर होता है एवं मसूड़ों की सूजन तथा पीड़ा नष्ट होती है।

यह भी दिखिये – Kele Ke Fayde: मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए एक सुपरफूड है केला

6. शिशु-सम्बन्धी रोग में अमरुद खाने के फायदे (Shishu-Sambandi Rog Me Amrud  Khane Ke Fayde)

अमरुद के पत्तों को पीसकर उनकी लुगदी बनाकर बच्चों की गुदा के मुखपर रखकर बांधने से गुदभ्रंश यानी कांच निकलने का रोग ( मल त्यागते वक़्त जोर लगाने पर गुदा की त्वचा का मल के साथ बहार निकलना) ठीक होता है। बच्चो को पतले दस्त बार-बार लगते हो तो इसके कोमल तथा ताज़े पत्तों एवं जड़ की छाल को उबालकर काढ़ा बना ले और दो-दो चमच सुबह शाम पिलाये। इससे पुराना अतिसार भी ठीक हो जाता है। इसके पत्तों का काढ़ा बनाकर पीने से उलटी तथा दस्त बंद हो जाता  है।

7. सूर्यावर्त में अमरुद खाने के फायदे (Suryavart Me Amrud  Khane Ke Fayde)

सुबह सूर्योदय से सिरदर्द शुरू हो, दोपहर में तीव्र पीड़ा हो एवं सूर्यास्त हो तब सिरदर्द मिट जाएँ – इस रोग को सूर्यावर्त कहते है। इस रोग में रोज़ सुबह पके हुए अमरुद खाने एवं कच्चे अमरुद को पत्थर पर पानी के साथ-साथ घिसकर ललाटपर लेप करने से लाभ होता है।

8. दाह-जलन में अमरुद खाने के फायदे (Daah Jalan Me Amrud  Khane Ke Fayde)

पके हुए अमरुद पर मिश्री भूर-भूराकर रोज़ दोपहर में खाने से जलन कम होती है। यह प्रयोग वायु अथवा पित्त दोष से उत्पन्न शारारिक दुर्बलता में लाभदायक है।

9. पागलपन एवं मानसिक उत्तेजना में अमरुद खाने के फायदे ( Pagalapan Awn Maanasik Uttejana Me Amrud  Khane Ke Fayde)

मानसिक उत्तेजना, अतिक्रोध, पागलपन अथवा अतिविषय-वासना के रोगमें भिगोयें हुए तीन-चार पके अमरुद सुबह खाली पेट खाना लाभदायक है। दोपहर के समय भी भोजन के 1 घंटे बाद अमरूद खायें इससे मस्तिष्क की उत्तेजना का शमन होता है एवं मानसिक शान्ति मिलती है।

10. स्वपनदोष में अमरुद खाने के फायदे (Swapandosh Me Amrud  Khane Ke Fayde)

कब्जियत अथवा शरीर की गर्मी के कारण होने वाले स्वपनदोष में सुबह और दोपहर अमरुद का सेवन करना लाभप्रद है।

11. खूनी दस्त (रक्तातिसार) में अमरुद खाने के फायदे (Khuni Dast Me Amrud  Khane Ke Fayde)

अमरुद के मुरब्बे का, पके हुए या कच्चे अमरूद की सब्जी का सेवन खूनी दस्त में लाभप्रद होता है।

12. मलेरिया ज्वर में अमरुद खाने के फायदे (Maleriya Fever Me Amrud  Khane Ke Fayde)

तीसरे अथवा चौथे दिन आने वाले विषम ज्वर (मलेरिया) में – प्रतिदिन नियम से सीमित मात्रा में अमरुद का सेवन लाभदायक है।

 

Amrud Khane Ke Fayde सावधानी (Caution While Eating Guava)

  • अधिक अमरुद खाने से वायु, दस्त, एवं ज्वर की उत्पत्ति होती है तथा मंदागिनी एवं सर्दी भी हो जाती है| जिनकी पाचनशक्ति कमजोर हो उन्हें अमरुद कम खाने चाहिए।
  • अमरुद खाते समय इस बात का पूरा ध्यान रकना चाहिए की इसके बीज ठीक से चबाए बिना पेट में ना जाएँ। इसका साबुत बीज अग्निपुच्छा(अपेंडिक्स) में चला जाए तो फिर बाहर नही निकल पाता, जिससे प्राय: ‘अपेण्डीसाइटिस   ‘ होने की सम्भावना होती है।
  • खाने के लिए पके हुए अमरुद का ही प्रयोग करें| कच्चे अमरुद का उपयोग सब्जी के रूप में किया जा सकता है।
  • दूध और अमरुद खाने के बीच 2 से 3 घंटे का अंतर अवश्य रखें।

स्वास्थ्य की रक्षा में अमरुद एक अमृत फल है और विभिन्न रोगों के उपचार में बहुत लाभदायक है।

By SAURABH

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *